Sukanya Samriddhi Yojana 2020-2021 In Hindi- सुकन्या समृद्धि योजना में आवेदन कैसे करें?

0
41
Sukanya Samriddhi Yojana 2020-2021 In Hindi

Sukanya Samriddhi Yojana 2020-2021 In Hindi:- नमस्कार दोस्तों आज हम आपको अपने आज के आर्टिकल में प्रधानमंत्री जी द्वारा शुरू की गई सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में बताने जा रहे हैं। Sukanya Samriddhi Yojana का शुभारंभ हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 22 जनवरी 2015 को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत किया गया था। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत गरीब परिवार की बेटियों का बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस में बचत खाता खोले जा रहे है।

इस योजना के तहत 10 साल से कम आयु की कन्याओं का खाता पोस्ट ऑफिस राष्ट्रीय बैंक या अन्य किसी भी बैंक में खोले जा रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने Sukanya Samriddhi Yojana के तहत यह ऐलान किया है कि जो लोग अपनी बेटी की पढ़ाई और शादी के लिए पैसा जमा करने के लिए खाता खोलना चाहते हैं तो वह पोस्ट ऑफिस, बैंक या अन्य किसी एजेंसी में न्यूनतम ₹250 में बचत खाता खोल सकते हैं। इसके साथ ही डेढ़ लाख रुपए जमा कर सकते हैं।

इस योजना के शुरुआती दौर में 9.1% अंतर वार्षिक दर पेशकश की गई थी। लेकिन अब बेटियों को बचत राशि पर सरकार द्वारा 8.6% ब्याज दर प्रदान किया जाएगा। Sukanya Samriddhi Yojana देश के उन लोगों के लिए काफी लाभदायक सिद्ध होगी जिन लोगो की आमदनी बहुत कम है। जिस कारण वह अपनी बेटियों को पढ़ाने व उनका विवाह करने में असमर्थ हैं। ऐसे लोग भी सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ आसानी से उठा सकते हैं।

यदि आप प्रधानमंत्री जी द्वारा आयोजित इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आपके लिए इस पोस्ट को लास्ट तक पूरा पढ़ना होगा। इस पोस्ट के माध्यम से Sukanya Samriddhi Yojana से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया, दस्तावेज और पात्रता आदि के बारे में सारी जानकारी इस आर्टिकल में उपलब्ध कराने वाले हैं।

Table of Contents

Sukanya Samriddhi Yojana New Update-

दोस्तो जैसा की आप सभी जानते हैं कि पूरी दुनिया में कोरोनावायरस महामारी की वजह से हमारे भारत देश की अर्थव्यवस्था और आर्थिक गतिविधियों पर भी काफी प्रभाव पड़ा है। RBI की तरफ से पोरेट घटाए जाने के बाद सरकार ने fs22 सहित छोटी बचत योजनाओं के लिए पिछले महीने ब्याज दरों में कटौती की घोषणा की है।

इस योजना के अंतर्गत पोस्ट ऑफिस रिकरिंग डिपॉजिट और टाइम डिपॉजिट पर 1 से 3 साल की ब्याज दरों में 1.4 फ़ीसदी की कमी की गई है। इससे आपके द्वारा आपकी बेटी के लिए मैच्योरिटी की गई राशि में कमी आएगी। इसके साथ ही भारत सरकार ने Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत ब्याज दर कम होने के बाद लाभार्थी के खातों में दी जाने वाली ब्याज की वार्षिक दर पहले के 8.4% की तुलना में 7.6% कर दी गयी है।

यदि किसी परिवार में 2 से अधिक बेटियां हैं तो उस परिवार में केवल दो ही बेटियों को सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ मिल सकता है, लेकिन यदि किसी परिवार में जुड़वा बेटियां हैं तो उन्हें इस योजना का लाभ अलग-अलग मिलेगा यानी कि फिर उस परिवार की तीन बेटियां लाभ उठा सकती हैं जुड़वा बेटियों की गिनती एक ही होगी लेकिन उनको Sukanya Samriddhi Yojana के तहत लाभ अलग-अलग दिया जाएगा ऐसा नियम भारत सरकार के द्वारा बनाया गया है।

इस योजना में खाता खोलने के बाद खाताधारक बच्ची के 18 साल के होने के बाद या 21 साल के होने के बाद शादी होने तक चलाया जा सकता है। Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत गरीब परिवार के लोग अपनी बच्ची की आयु 18 वर्ष होने के पश्चात उसकी पढ़ाई के लिए कुल जमा राशि में से 50% निकाल सकता है और बेटी के 21 वर्ष की आयु होने के पश्चात शादी के लिए पूरी जमा राशि निकाल सकता है जिसमें लाभार्थी द्वारा जमा की गई धनराशि और एजेंसी द्वारा भुगतान की गई ब्याज धनराशि भी शामिल होगी लेकिन यह सब बेटी के 21 साल की आयु पूर्ण होने पर ही संभव है

प्रतिवर्ष कितने पैसे देने होंगे और कब तक देना होगा-

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बताते चलें कि Sukanya Samriddhi Yojana  देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा शुरू की गई है। इसके तहत आपको पहले महा में ₹1000 जमा होते थे जो कि अब कम करके ₹250 प्रतिमाह कर दिए गए है। कोई भी व्यक्ति इस योजना के अंतर्गत ₹250 से लेकर ₹100000 तक निवेश कर सकता है, अगर आप इस योजना के अंतर्गत बैंक खाता ओपन करते हैं तो आपके लिए 14 साल तक लगातार निवेश करना होगा।

Sukanya Samriddhi Yojana के बदलाब-

Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत सरकार के द्वारा पांच नए बदलाव किए गए हैं जिनके बारे में आपको जानना अति आवश्यक है। जिनकी जानकारी हम आपके लिए नीचे दे रहे हैं।

डिफॉल्ट अकाउंट पर अधिक ब्याज दर-

यदि कोई व्यक्ति सुकन्या समृद्धि अकाउंट में प्रतिवर्ष ₹250 की धनराशि जमा नही करता है तो उसके एकाउंट को  डिफॉल्ट एकाउंट समझा जाता है। यानि आपके  अकाउंट में जमा रकम पर सरकार द्वारा वही ब्याज प्रदान किया जाएगा जो ब्याज इस योजना को शुरू करते समय तय किया गया था। इसका मतलब यह है कि इस योजना का लाभ लेने वाले लाभर्ति के खाते में जमा धनराशि पर सरकार द्वारा 8.7% तथा पोस्ट ऑफिस बचत खाते में जमा धनराशि पर सरकार द्वारा 4% का ब्याज प्रदान किया जाएगा।

प्रीमेच्योर खाता क्लोज करने के नियम में बदलाव-

दोस्तों आपकी जानकारी के लिए हम अपको बता दे की भारत सरकार ने इस योजना के लिए एक नया नियम लागू किया है इस नए नियम के अनुसार इस योजना का लाभ उठाने वाली बच्ची की एकाउंट परिपक्व होने से पहले मौत हो जाती है तो सरकार के द्वारा सहानुभूति के आधार पर अकाउंट को परिपक्वता अवधि से पहले बंद किया जा सकता है। सहानुभूति का तात्पर्य उस स्थिति से है जिसमें अकाउंट होल्डर को किसी जानलेवा बीमारी का इलाज कराना हो या उसके अभिभावक की मौत हो गई हो ऐसी स्थिति में बैंक अकाउंट को अभी से पहले ही बंद किया जा सकता है।

दो लड़कियों से अधिक का खाता खुलवाना-

इसके अलावा भारत सरकार ने एक और नए नियम को इस योजना में लागू किया है। इस नए नियमानुसार कोई व्यक्ति अपनी दो बेटियों से अधिक बेटियों का खाता सुकन्या समृद्धि अकाउंट खुलवाने के लिए उस व्यक्ति को अतिरिक्त दस्तावेज को सम्बंधित बैंक या पोस्ट ऑफिस में जमा कराने होंगे। इसके अलावा आपको अपनी बेटी के जन्म प्रमाण पत्र के साथ एक हलफनामा भी देना होगा। जो सरकार द्वारा अनिवार्य कर दिया गया है।

खाते का संचालन-

Sukanya Samriddhi Yojana के तहत जिस बच्ची के नाम से खाता खुला जाता है वह बच्ची जब तक 18 साल की नहीं हो जाती तब तक वह अपने खाते का संचालन अपने हाथ में नहीं ले सकती है। जबकि इससे पहले यह आयु सीमा 10 वर्ष तक थी। लेकिन अब सरकार ने इसे बढ़कर 18 वर्ष कर दी है। यानि जब बच्ची 18 साल की हो जाएगी तो उसके अभिभावक को बच्ची से संबंधित दस्तावेज पोस्ट ऑफिस में जमा करने होंगे इसके बाद एकाउंट का संचालन एकाउंट होल्डर लड़की स्वयं कर सकती है।

अन्य बदलाव-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा इस योजना के तहत उपरोक्त नियमों में बदलावों के अलावा कुछ नए प्रावधान को भी इस योजना में जोड़े गए हैं जबकि कुछ हटाए गए हैं। अभी तक इनके बारे में कुछ स्पष्ट नहीं किया गया है यदि सरकार के द्वारा इन नियमों में कुछ जानकारी मिलती है हम आपको अपने आर्टीकल के जरिए सारी जानकारी उपलब्ध कराने का पूरा प्रयास करेंगे।

खाता ट्रांसफर-

यदि आप अपना खाता ट्रांसफर करना चाहते हैं तो आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि आप इस योजना के अंतर्गत अपना खाता एक जगह से दूसरी जगह आसानी से ट्रांसफर कर सकते है। यह स्थानांतरण बिना किसी चीज के कराया जा सकता है इसके लिए खाताधारक को स्थानांतरण का प्रमाण पोस्ट ऑफिस या बैंक में देना होगा। यदि खाताधारक स्थानांतरण का प्रमाण नहीं दे पाता है तो उसे ₹100 फीस का भुगतान करके अपना स्थानांतरण कराना होगा यह नियम केंद्र सरकार के द्वारा लागू किया गया है।

Sukanya Samriddhi Yojana के उद्देश्य-

Sukanya Samriddhi Yojana का मुख्य उद्देश्य देश के गरीब परिवार की लड़कियों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ावा देना है। और विवाह योग्य होने पर पैसों की कमी होने वाली कमी की पूर्ति करने के लिए सरकार ने Sukanya Samriddhi Yojana को शुरू किया है। इसके अलावा देश के गरीब लोगों इस योजना के तहत खोले गए बचत खाते में अपनी बेटी की पढ़ाई और शादी में होने वाले खर्च को आसानी से जमा करके धीरे धीरे पूरा कर सकते हैं और अपनी बेटी का खाता न्यूनतम ₹250 में बैंक में खुलवा सकते हैं। जिससे देश की लड़कियों को प्रोत्साहन मिलेगा। जिससे लड़कियों के भ्रूण हत्या को रोकने में मदद प्राप्त होगी।

Sukanya Samriddhi Yojana खाते में धनराशि कैसे जमा करें-

यदि आप चाहे तो आप इस योजना के तहत जमा की जाने वाली धनराशि को डिमांड ड्राफ्ट के द्वारा जमा कर सकते हैं या फिर जिस पोस्ट ऑफिस या बैंक में आपका एकाउंट है और यदि उसमे मोबाइल बैंकिंग या नेटबैंकिंग सिस्टम मौजूद है तो आप अपने एकाउंट में ऑनलाइन मोड़ से भी पैसे जमा कर सकते हैं। आपको जो भी तरीका अच्छा लगे आप उसे सुकन्या समृद्धि एकाउंट में पैसे जमा कर सकते हैं।

खाता किस आयु तक खोला जा सकता है-

भारत सरकार ने इस योजना का लाभ लेने वाली बेटियों की आयु सीमा 0 साल से लेकर 10 साल की तक निर्धारित की है। इसका मतलब इस योजना के अंतर्गत केवल 10 साल तक कि आयु की बेटी का बैंक अकाउंट खोला जाएगा। Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत यदि आपकी बेटी की आयु 10 वर्ष से ज्यादा है तो बैंक आपकी बेटी का अकाउंट ओपन नही किया जा सकता है। Sukanya Samriddhi Yojana के तहत ओपन किये गए अकाउंट का संचालन लाभर्ति बेटी के माता-पिता या अभिभावक के हाथों में पास होगा।

किन परिस्थितियों में खाता पहले बंद हो सकता है-

यदि खाता धारक बच्ची की किसी कारणवश मृत्यु हो जाती है तो इस स्थिति में Sukanya Samriddhi Yojana एकाउंट बंद करवाया जा सकता है। इसके लिए आपको खाताधारक की मृत्यु का मृत्यु प्रमाण पत्र बैंक में दिखाना होगा। इसके बाद इस खाते में जमा धनराशि बेटी के अभिभावक को ब्याज सहित लौटा दी जाएगी।

इसके अतिरिक्त आपके द्वारा सुकन्या समृद्धि एकाउंट खुलवाने के 5 साल बाद भी किसी कारणवश आपका खाता बंद किया जा सकता है। इस स्थिति में आपको अपने धन पर सेविंग बैंक अकाउंट के हिसाब से ब्याज दर प्राप्त होगा। इस खाते में में जमा धनराशि का 50% आप बेटी की पढ़ाई के लिए भी निकल सकते हैं। इस निकासी के काम को आप अपनी बेटी के 18 वर्ष के होने के बाद ही कर सकते हैं।

किसी कारणवश Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत खाते में पैसा जमा नहीं हो पाया तो क्या होगा-

यदि कोई व्यक्ति किसी कारणवश खाताधारक अपनी बेटी के खाते में रकम जमा नहीं कर पाता है तो उसे ₹50 सालाना की पेनल्टी देनी होगी और इसी के साथ हर साल की न्यूनतम राशि का भुगतान करना होगा यदि पेनल्टी नहीं चुकाई गई तो Sukanya Samriddhi Yojana खाते में सेविंग अकाउंट के बराबर ब्याज दर मिलेगा जो कि केवल चार प्रतिशत ही है।

Sukanya Samriddhi Yojana के लाभ-

  • Sukanya samriddhi yojana के अंतर्गत कोई भी व्यक्ति अपनी 2 कन्या का सिर्फ ₹250 में सुकन्या समृद्धि खाता खोलावा सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत खाते में जमा की गई धनराशि को बेटियों के 18 साल का होने पर पढ़ाई के लिए एकाउंट में कुल जमा राशि में से 50% ही निकाल सकते हैं और 21 साल की होने के बाद बेटी की शादी के लिए पूरी धनराशि निकाली जा सकती है।
  • भारत सरकार आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80 के तहत छूट भी प्रदान करता है तथा शेष धनराशि एसएस बाई की परिपक्वता के बाद लाभर्ति को प्राप्त होगी।
  • यह योजना देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा बेटियों के लिए एक छोटी सी बचत योजना के तौर पर चलाई गई है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना 2020 के अंतर्गत लाभार्थी राष्ट्रीय बैंक पोस्ट ऑफिस एसबीआई आईसीआईसीआई पीएनबी बैंक एक्सिस बैंक एचडीएफसी आदि इन सभी बैंकों में बेटियां अपना खाता खुलवा सकती हैं।
  • सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ हमारे भारत देश की 10 वर्ष से कम की आयु की लड़कियों को प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत चालू वित्त वर्ष के दौरान अधिकतम डेढ़ लाख रुपए जमा किए जाएंगे।
    यह योजना आपकी लड़की की शादी शिक्षा में मदद करेगा।
  • इस योजना के अंतर्गत आप किसी भी बैंक या किसी भी डालकर में आसानी से खाता खुलवा सकते हैं।
  • सुकन्या समृद्धि योजना लड़की और लड़की के माता-पिता या अभिभावक दोनों के लिए फायदेमंद है क्योंकि यह दोनों की मदद करता है।
  • इस योजना के तहत बालिकाओं के अभिभावक उनके लिए बचत खाता खोल सकते हैं जब वह 10 वर्ष की नहीं हो जाती।
  • जमा करता लड़की की ओर से खाता खोलने की तारीख से 14 साल पूरा होने तक खाते में पैसा जमा कर सकता है।
  • लड़की के अभिभावक या प्राकृतिक माता-पिता को केवल दो लड़कियों के लिए इस योजना के तहत खाता खोलने की अनुमति केंद्र सरकार के द्वारा दी गई है।

Sukanya Samriddhi Yojana के लिए अधिकृत बैंक-

इस योजना के तहत भारतीय रिजर्व बैंक ने 28 बैंक अधिकृत किए हैं जो निम्न प्रकार है।

• सिंडीकेट बैंक
• स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर (SBBJ)
• स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर (SBT)
• ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC)
• स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद (SBH)
• पंजाब एंड सिंध बैंक (PSB)
• यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
• यूको बैंक
• यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
• विजय बैंकइलाहाबाद बैंक
• भारतीय स्टेट बैंक (SBI)
• ऐक्सिस बैंक
• आंध्रा बैंक
• बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BOM)
• बैंक ऑफ इंडिया (BOI)
• कॉर्पोरेशन बैंक
• सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (CBI)
• केनरा बैंक
• देना बैंक
• बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB)
• स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (SBP)
• स्टेट बैंक ऑफ मैसूर (SBM)
• इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB)
• भारतीय बैंक
• पंजाब नेशनल बैंक (PNB)
• आईडीबीआई बैंक
• आईसीआईसीआई बैंक

Sukanya Samriddhi Yojana के लिए जरूरी दस्तावेज और पात्रता-

भारत सरकार ने इस योजना के तहत अप्लाई करने वाली कन्याओं के लिए कुछ जरूरी पात्रता और दस्तावेज निर्धारित की गई है जिनकी जानकारी हम आपके लिए नीचे दे रहे हैं।

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक के पासआधार कार्ड होना चाहिए।
  • आवेदक बेटी और उसके माता पिता कीपासपोर्ट साइज फोटोज होने चाहिए।
  • सुकन्या समृद्धि योजना में आवेदन करने के लिए बेटी का जन्म प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  • इसके अलावा आवेदनकर्ता के लिए निवास प्रमाण पत्र की आवश्यकता होगी।
  • आवेदक के अभिभावक का पैन कार्ड राशन कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस आधार कार्ड अनिवार्य है।
  • सबसे महत्वपूर्ण है कि इस योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने के लिए बेटी की आयु 10 वर्ष से कम होनी चाहिए।

Sukanya Samriddhi Yojana में खाता खुलवाने के नियम-

भारत सरकार ने इस योजना के अंतर्गत एकाउंट ओपन करने के लिए कुछ नियम निर्धारित किये हैं इन सभी नियमो का पालन करने वाले लोगो को ही इस योजना का लाभ दिया जाएगा।

  • सुकन्या समृद्धि योजना में बेटे की उम्र 10 साल से कम होनी चाहिए तभी उसका खाता इस योजना के अंतर्गत खुलवाया जा सकता है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत एक बेटी के लिए केवल एक ही खाता खुलवाया जा सकता है तथा खाता खुल जाते समय बेटी का जन्म प्रमाण पत्र पोस्ट ऑफिस या बैंक में जमा करना होगा।
  • किसी के साथ अन्य महत्वपूर्ण दस्तावेज जैसे की पहचान पत्र तथा निवास प्रमाण पत्र भी जमा करना अनिवार्य होगा।
  • इस एकाउंट को बेटी के माता-पिता अभिभावक या फिर कानूनी अभिभावकों द्वारा खुलवाया जा सकता है।

Sukanya Samriddhi Yojana खाता खोलने का आवेदन फार्म-

यदि तो Sukanya Samriddhi Yojana के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो आप नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

Step1. यदि अपनी बेटी के लिए इस योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो उन्हें सबसे पहले सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ओपनिंग फॉर्म को डाउनलोड करना होगा।

Sukanya Samriddhi Yojana

Step2. इसके बाद सभी आवश्यक जानकारी के साथ आवेदन फार्म भरना होगा फार्म भरने के बाद सभी दस्तावेजों को फार्म के साथ अटैच करना होगा।

Step3. यह सब करने के बाद बैंक और पोस्ट ऑफिस में आवेदन फार्म और सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को राशि के साथ जमा करना अनिवार्य है।

निष्कर्ष –

दोस्तों आज के आर्टिकल में हमने आपके लिए Sukanya Samriddhi Yojana 2020-2021 In Hindi- सुकन्या समृद्धि योजना में आवेदन कैसे करें? के बारे में सभी जानकारी अच्छे से साझा की है। हमने आपके लिए सुकन्या समृद्धि योजना में आवेदन कैसे करें तथा दस्तावेज, पात्रता इसके आलावा इस योजना का लाभ कैसे प्राप्त करे आदि प्रकार की जानकारी विस्तार से बताई है।

तो हम आप सभी लोगो से आशा करते है कि आपके लिए हमारा यह लेख काफी मददगार साबित हुआ होगा। यदि आपके लिए इस लेख से जुड़ा और कोई भी सवाल पूछना है, तो आप लोग नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है। हम आपके सवाल का जबाब जल्द से जल्द देने की कोशिश करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here